जानिए कोरोना वायरस बैंक नोट और मास्क पर कितने दिनों तक जिंदा रह सकता है?

जानिए कोरोना वायरस बैंक नोट और मास्क पर कितने दिनों तक जिंदा रह सकता है? - कोविड-19 बीमारी के लिए जिम्मेदार कोरोना वायरस चेहरे पर लगाए जाने वाले मास्क पर हफ्ते भर तक और बैंकनोट, स्टील एवं प्लास्टिक की सतह पर कई दिनों तक जिंदा रहकर संक्रमण फैलाने में सक्षम होता है।

जानिए कोरोना वायरस बैंक नोट और मास्क पर कितने दिनों तक जिंदा रह सकता है?

एक अध्ययन में यह जानकारी सामने आई है - कोरोना वायरस मास्क पर हफ्ते भर और बैंक नोट पर कई दिनों तक जिंदा रह सकता है


हांग कांग यूनिवर्सिटी के अनुसंधानकर्ताओं का कहना है यह वायरस घर में इस्तेमाल होने वाले कीटाणु नाशकों, ब्लीच या साबुन और पानी से बार-बार हाथ धोने से मर जाएगा।

साउथ चाइना मॉर्निंग पोस्ट ने सोमवार को बताया कि अध्ययन में पाया गया कि कोरोना वायरस स्टेनलेस स्टील और प्लास्टिक की सतहों पर चार दिन तक चिपका रह सकता है और चेहरे पर लगाए जाने वाले मास्क की बाहरी सतह पर हफ्तों तक जिंदा रह सकता है।

यह अध्ययन सार्स-सीओवी-2 की स्थिरता को लेकर लगातार हो रहे अनुसंधानों में और जानकारी जोड़ता है तथा बताता है कि इसको फैलने से कैसे रोका जा सकता है।

हांग कांग यूनिवर्सिटी - कोरोना 


हांग कांग यूनिवर्सिटी के स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के अनुसंधानकर्ता लियो पून लितमैन और मलिक पेरीज ने कहा, सार्स-सीओवी-2 अनुकूल वातावरण में बेहद स्थिर रह सकता है लेकिन यह रोगाणु मुक्त करने के मानक तरीकों के प्रति अतिसंवेदनशील भी है।

अनुसंधानकर्ताओं ने जांचने की कोशिश की कि यह वायरस सामान्य ताप पर विभिन्न सतहों पर कितनी देर संक्रामक रह सकता है।

टिश्यू-पेपर पर कोरोना


उन्होंने पाया कि प्रिंटिंग और टिश्यू-पेपर पर यह तीन घंटे, जबकि लकड़ी या कपड़े पर यह पूरा एक दिन रह सकता है।

कांच और बैंकनोट पर यह वायरस चार दिन तक जबकि स्टेनलेस स्टील और प्लास्टिक पर चार से सात दिन के बीच संक्रामक रहा। 

यह अध्ययन 'द लॅन्सेट' पत्रिका में प्रकाशित हुआ है।


सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News

Follow us: Facebook

Post Business Listing - for all around India

राजपूताना न्यूज के बारे में 

राजपूताना न्यूज ने पाठको की इसी जरूरत को ध्यान में रखते हुए अपना डेली डिजिटल एडिशन शुरू किया है।

यद्यपी यह वेबसाइट मुख्यतया राजस्थान की खबरों पर आधारित है तथापि इस वेबसाइट पर सभी तरह की राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय खबरों को भी प्रमुखता दी जाती है।

राजपूताना न्यूज डॉट कॉम वेबसाइट डेली डिजिटल एडिशन के रूप में अपना ई-पेपर जयपुर से प्रकाशित एवं प्रसारित करती है. यह डिजिटल एडिशन छः पृष्ठों का है जिन्हें समय के साथ-साथ बढाया जाएगा।

इस डिजिटल एडिशन में प्रादेशिक समाचारों के साथ-साथ राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय समाचारों को भी प्रमुखता दी गई है. साथ ही एक सम्पूर्ण पृष्ठ खेल समाचारों के लिए तथा एक सम्पूर्ण पृष्ठ मनोरंजन की खबरों के लिए आरक्षित रखा गया है।

डिजिटल पेपर की डिजाईन को आकर्षक तथा आधुनिक बनाने पर मेहनत की गई है जिसकी वजह से यह एडिशन अपने क्षेत्र के किसी भी बड़े अखबार से प्रतिस्पर्धा करने में सक्षम है।

इस पेपर में रोजाना सुबह तक के एकदम ताजा समाचारों का समावेश होता है ताकि पाठक हर क्षेत्र की नवीनतम जानकारी को अपने मोबाइल के माध्यम से ही प्राप्त कर सके। 

भविष्य में राजपूताना न्यूज डॉट कॉम वेबसाइट का और अधिक प्रसार किया जाएगा जिसमे राजपूताना न्यूज की मासिक पत्रिका के साथ-साथ राजपूताना न्यूज का लाइव स्ट्रीमिंग चैनल भी शुरू किया जाना प्रस्तावित है।

इस विस्तार से पाठक डिजिटल मीडिया के साथ-साथ प्रिंट तथा अन्य इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के द्वारा भी नित नवीनतम जानकारियों से अवगत हो सकेंगे। 


किसी भी पाठक के मन में अगर किसी भी प्रकार का प्रश्न है या फिर उसे किसी भी तरह की न्यूज को राजपूताना न्यूज डेली डिजिटल एडिशन में प्रकाशित करवाना है तो news@rajputananews.com पर ईमेल कर सकता है।

राजपूताना न्यूज डॉट कॉम भारत की सबसे तेजी से बढती न्यूज तथा मीडिया की वेबसाइट है।