Breaking News

पोकरण में कोरोना का कहर

पोकरण में कोरोना का कहर, दो दिन में मिले 14 पॉजिटिव, जिला प्रशासन अलर्ट।

जैसलमेर - चीन के वुहान से शुरू हुआ कोरोना वायरस का कहर सीमावर्ती जैसलमेर के पोकरण में पहुंच गया है।

पोकरण में कोरोना का कहर


देश में परमाणु बम धमाकों के गवाह रहे पोकरण में दो दिन से कोरोना के कहर ने सभी को चौंका कर रख दिया है।
पूरी दुनिया में शक्ति स्थल के रूप में प्रसिद्ध पोकरण कस्बा अब प्रदेश में कोरोना का नया हॉट स्पॉट बनने जा रहा है,

दो दिन में ही सरहदी जैसलमेर जिले के इस कस्बे में 14 कोरोना संक्रमित सामने आ चुके है।

पोकरण में सोमवार शाम एक पॉजिटिव मरीज मिलने के बाद मंगलवार सुबह 7 और शाम को 6 नए मरीज एकाएक मिलने से हड़कम्प मच गया हैं।जबकि करीब 31 लोगों के सैंपल जांच के लिए भिजवाए गए है।

डिस्कॉम का एक हैल्पर सबसे पहले पॉजिटिव पाया गया।

 पोकरण में पहला केस सोमवार को  डिस्कॉम का एक हैल्पर सबसे पहले पॉजिटिव पाया गया. ये व्यक्ति कुछ दिन पूर्व तक क्षेत्र में दौरे पर रहे तबलीगी जमात के लोगों के संपर्क में था।

इसके बाद जिला कलेक्टर नमित मेहता व पुलिस अधीक्षक किरण कंग के नेतृत्व में प्रशासन ने पोकरण में डेरा जमा सख्ती के साथ जांच अभियान शुरू किया।

पोकरण में कोरोना का कहर


क्षेत्र में तबलीगी जमात के लोगों के संपर्क में आए लोगों की व्यापक स्तर पर तलाश की गई. इसी का नतीजा है कि दो दिन में ही करोना संक्रमितों की संख्या 14 तक जा पहुंची है।

लॉकडाउन में हुए एक आयोजन में कुछ लोग जुटे थे।

बताया जा रहा है कि लॉक डाउन के बावजूद हुए एक आयोजन में कुछ लोग जुटे थे। अभी तक संक्रमित पाए गए लोगों ने इसमें हिस्सा लिया था। अब पूरे पोकरण कस्बे में कर्फ्यू लगाकर घर-घर जांच की जा रही है।

आमजन में भय व दहशत का माहौल


पोकरण जैसे छोटे कस्बे मेें दो दिनों में 14 लोगो के कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद प्रशासनए पुलिस व चिकित्सा विभाग के साथ स्थानीय लोगों में भी हड़कंप मचा हुआ है।

लॉकडाउन के दौरान लोग घरों से निकलकर अपने कार्य के लिए जाते थे,लेकिन कोरोना पॉजीटिव की सूचना के बाद कोई व्यक्ति घर से निकलने की हिम्मत नहीं कर रहा है। भय व दहशतत के चलते लोग घरों में भी विश्राम कर रहे है।

प्रशासन व पुलिस हुई मुस्तैद


कस्बे में चौदह जनों के कोरोना पॉजीटिव पाए जाने के बाद प्रशासन व पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है। कस्बे को पूरी तरह से सील कर दिया गया है।

पोकरण में कोरोना का कहर


किसी भी व्यक्ति को बाहर जाने व अंदर आने की अनुमति नहीं दी जा रही है। पुलिस, आरएसी व होमगार्ड की ओर से 300 से अधिक का जाब्ता पोकरण में तैनात किया गया है।

इसके अलावा दो दर्जन से अधिक उच्चाधिकारी भी तैनात किए गए हैए जो मोनीटरिंग कर रहे है।

एक गिरफ्तार

पोकरण क्षेत्र में 14 कोरोना पॉजिटिव मामलों के बीच पुलिस ने लॉक डाउन की अवहेलना करने पर एक व्यक्ति पर कार्रवाई की है।

पुलिस के अनुसार पोकरण थानाधिकारी सुरेन्द्र कुमार को मुखबिर से सूचना मिली कि यारू खां पुत्र दीन मोहम्मद निवासी पोकरण स्थानीय अस्पताल में एम्बुलेंस के रूप में संचालित करता है।

यारू खां ने तमाम कोरोना संक्रमण वायरस की नियंत्रण की सरकार की ओर से की जा रही कोशिशों को नकारात्मक रूप से निष्प्रभावित करते हुए लॉक डाउन की शर्तो को उल्लघंन किया है।


आरोप है कि एम्बुलेंस में मरीज की जगह सवारियां बिठाकर गत 23 मार्च को कारपडा, पीपाड व 31 मार्च को पूगल, बीकानेर छोड़कर आया है।

इस प्रकार यारू खां ने लॉक डाउन व धारा 144 सीआरपीसी की शर्तो का उल्लघंन किया तथा वैशविक संक्रामक बीमारी की प्रसार में सहयोग किया है।

आरोप यह भी है कि उसने एम्बुलेंस को मरीजों की जगह सवारी गाड़ी के रूप में उपयोग कर पुलिस व प्रशासन व आमजन के साथ में धोखाधड़ी करते हुए परमिट की शर्तों का उल्लंघन किया।

आरोपी यारू खां पुत्र दीन मोहम्मद के खिलाफ महामारी अधिनियम एवं एमवी एक्ट के तहत पुलिस थाना पोकरण में प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी गई है।

पोकरण में कोरोना का कहर

ग़ुलाब सिंह - जैसलमेर (Gulab Singh - Jaisalmer) के द्वारा लिखित

सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News

Follow us: Facebook

Post Business Listing - for all around India