कोरोना वायरस के प्रभाव : ईरान से अब तक जैसलमेर में 484 भारतीयों को लाया गया

कोरोना का प्रभाव: ईरान से अब तक जैसलमेर में 484 भारतीयों को लाया गया।तीसरे चरण में बुधवार को 195 यात्री दो विमानों से आए। बुधवार को सेना प्रमुख ने जांची सैन्य व्यवस्थाएँ।

कोरोना वायरस के प्रभाव : भारत सरकार द्वारा रविवार 236 व सोमवार 53 लोगो को जैसलमेर भेजा


The latest update by जैसलमेर से गुलाबसिंह भाटी

कोरोना का प्रभाव:-ईरान से अब तक जैसलमेर में 484 भारतीयों को लाया गया।तीसरे चरण में बुधवार को 195 यात्री दो विमानों से आए। बुधवार को सेना प्रमुख ने जांची सैन्य व्यवस्थाएँ।

जैसलमेर
कोरोना वायरस से प्रभावित ईरान में फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए भारत सरकार लगातार प्रयासरत है।भारत सरकार द्वारा पिछले दिनों 289 लोगो को जैसलमेर लाया गया था।

वही बुधवार को भी तीसरे चरण में एक ओर विमान से ईरान से 195 लोगो को जैसलमेर पहुंचाया गया है।अब ईरान से लाए गए लोगो की संख्या 484 हो गई है।जिसमे पुरुष,महिलाएं,बच्चे शामिल है।

कोरोना वायरस के प्रभाव : भारत सरकार द्वारा रविवार 236 व सोमवार 53 लोगो को जैसलमेर भेजा


ईरान से उड़ान भरकर वाया दिल्ली होते हुए भारतीय एयरइंडिया के विमान से जैसलमेर के सिविल एयरपोर्ट पर उतारा गया।जैसलमेर पहुंचने पर उनकी स्क्रीनिंग की गई तथा वहां से सेना स्टेशन ले जाया गया।जहां पर उनको  आर्मी वेलनेस में रखा गया है।सेना चिकित्सकीय द्वारा लगातार उनकी निगरानी में रखी जा रही है।

बताया जा रहा कि सभी भारतीयों की स्क्रिनिंग हो चुकी है।ईरान से लाए गए भारतीयों में पुरुष,महिलाएँ सहित विद्यार्थी भी शामिल है।इस दौरान आर्मी,पुलिस,चिकित्सा महकमा व जिला प्रशासन की टीमें मौजूद रही।

रक्षा विभाग के कर्नल संबित घोष ने प्रेस नोट जारी कर बताया कि 195 भारतीयों का एक और दल ईरान से एक विशेष विमान से आज शाम जैसलमेर लाया गया।

कोरोना वायरस के प्रभाव : भारत सरकार द्वारा रविवार 236 व सोमवार 53 लोगो को जैसलमेर भेजा


इन यात्रियों की एयरपोर्ट पर स्क्रीनिंग के बाद जैसलमेर स्थित सैन्य स्वस्थता केन्द्र ले जाया गया।इस दल के आने से जैसलमेर स्थित सैन्य स्वस्थता केन्द्र में रह रहे लोगों की संख्या बढ़ कर  484 हो गयी है ।

सैन्य अधिकारियों ने यह सूचित किया है कि सभी लोग जिन्हें कोरेंटाइनड में रखा गया है उनकी हालत स्थिर है और वह स्वस्थता केन्द्र में उपलब्ध सुविधाओं का भरपूर उपयोग करके यह लोग आराम से स्वस्थता केन्द्र में रह रहे है इससे यह दर्शाता है कि वे भी देश की COVID - 19 के खिलाफ इस लड़ाई में अपना योगदान देने के लिए तैयार है।

जैसलमेर में सेना प्रमुख ने सैन्य स्वस्थता सुविधा की ली सुध।

सेना प्रमुख मनोज मुकुंद नरवाने ने दो दिन तक जैसलमेर सैन्य स्टेशन का दौरा कर निरीक्षण किया।जैसलमेर यात्रा के दौरान सेना प्रमुख के साथ लेफ्टिनेंट जनरल सीपी मोहंती, जनरल ऑफिसर कमांडिंग-इन-चीफ, दक्षिणी कमान ने सैन्य स्वस्थता सुविधा की समीक्षा की।जो COVID-19 द्वारा प्रस्तुत चुनौतियों को दूर करने एवं राष्ट्र की सुविधा के लिए जैसलमेर में स्थापित है।

ईरान से लाए गए कुल 289 पुरुषों और महिलाओं, बच्चों को सुविधा में अनिवार्य कोरेंटाइन अवधि से गुजरना पड़ रहा है।सैन्य स्वस्थता सुविधा कोरेंटाइंड लोगों के ठहरने एवं उन्हे आरामदायक बनाने के लिए सभी सुविधाओं से सुसज्जित है।महिलाओं और पुरुषों को उनके आयु समूहों के अनुसार अलग-अलग वार्ड में रखा गया है।

ईरान से लाए गए निवासियों की निगरानी के लिए चिकित्सा कर्मचारियों की एक समर्पित टीम को स्वस्थता सुविधा में रखा गया है।

सभी वार्ड कमरों मे टीवी उपलब्ध कराए गए हैं और उनके मनोरंजन के लिए इनडोर और आउटडोर खेलों का प्रबंध भी किया गया है। सैन्य स्वस्थता सुविधा को पूरी तरह से अलग कर दिया गया है और इनकी सुरक्षा के लिए जवानों को चौबीसों घंटे तैनात किया गया है।

कुल मिलाकर सैन्य स्वस्थता सुविधा को एक उद्देश्य के साथ स्थापित किया गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि कोरेंटाइन लोग उस स्थान को स्वस्थ होकार ही पुनः लोटे।

थलसेना प्रमुख ने दक्षिणी कमान और विशेष रूप से कोणार्क वाहिनी द्वारा विभिन्न स्थानों से लाए गए भारतीय नागरिकों की देखभाल करने में नागरिक प्रशासन की मदद के लिए किए गए प्रयासों की सराहना की।

सेना प्रमुख ने सीमावर्ती क्षेत्रों का भी दौरा किया और पश्चिमी सीमाओं के साथ भारतीय सेना की परिचालन तत्परता की समीक्षा की, जबकि सभी सैनिकों को वास्तविक और केंद्रित प्रशिक्षण के माध्यम से व्यावसायिकता और परिचालन तैयारियों के उच्चतम मानकों को बनाए रखने के लिए प्रेरित किया।

ईरान से उड़ान भरकर वाया दिल्ली होते हुए भारतीय एयर इंडिया के विमान से जैसलमेर के सिविल एयरपोर्ट पर उतारा गया।जैसलमेर पहुंचने पर उनकी स्क्रीनिंग की गई तथा वहां से सेना स्टेशन ले जाया गया।

Dated 16/3/2020

जैसलमेर में गर्म तापमान के कारण व सेना द्वारा विभिन्न स्थानों पर वैलनेस सेंटर स्थापित।

सेना स्टेशन पर 14 दिनों तक निगरानी रखेगी सेना के चिकित्सक टीम।सभी भारतीयों की स्क्रिनिग, जांच नेगेटिव।

कोरोना वायरस के प्रभाव के चलते ईरान से रविवार को 236 तथा सोमवार को 53 भारतीयों को लाया गया जैसलमेर। 

कोरोना वायरस से प्रभावित ईरान में फंसे भारतीयों को सुरक्षित निकालने के लिए भारत सरकार प्रयासरत है।भारत सरकार द्वारा रविवार को 236 लोगो को जैसलमेर लाया गया है।वही सोमवार को भी ईरान से 53 लोगो को जैसलमेर पहुंचाया गया।

14 दिनों तक आर्मी वेलनेस में 

जहां पर उनको 14 दिनों तक आर्मी वेलनेस में रखा गया है।14 दिनों तक चिकित्सकीय निगरानी में रखा जाएगा।बताया जा रहा कि सभी भारतीयों की स्क्रिनिंग हो चुकी है तथा इनकी जांच रिपोर्ट भी नेगेटिव है।

ईरान से लाए गए भारतीयों में पुरुष, महिलाएँ सहित विद्यार्थी भी शामिल है।इस मौके पर सैन्य अधिकारियों के साथ जिला कलेक्टर नमित मेहता, पुलिस अधीक्षक किरण कंग सिंधु, एयरपोर्ट निदेशक बीएस मीना सहित अन्य प्रशासनिक,चिकित्सा अधिकारी मौजूद थे।

रक्षा विभाग के प्रवक्ता कर्नल संबित घोष ने प्रेस रिपोर्ट जारी कर बताया कि जैसलमेर के सैन्य स्वस्थता केंद्र में ईरान से रविवार को आए 236 व सोमवार को 53 भारतीयों को रखा गया है।

सेना के अधिकारियों ने आश्वस्त किया कि इन सभी भारतीय नागरिकों को स्वस्थ रखने के लिए सैन्य सेवारत चिकित्सक पूर्णरूप से सजग है तथा इन्हें अनिवार्य क्वरेनटाइन अवधि के दौरान अपेक्षित चिकित्सा और प्रशासनिक सहायता प्रदान के लिए हर सम्भव तैयार है।

कोरोना वायरस के प्रभाव : भारत सरकार द्वारा रविवार 236 व सोमवार 53 लोगो को जैसलमेर भेजा


साथ ही लोगो को कोरोना वायरस के खिलाफ हरसंभव सावधानी बरतने की सलाह दी जा रही है।रक्षा विभाग के प्रवक्ता संबित घोष ने सेना की ओर जारी बयान में कहा कि भारतीय सेना ने विभिन्न स्थानों पर वैलनेस स्थापित किए है उन्होंने कहा कि जैसलमेर में वैलनेस सेंटर कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई का समर्थन करने के लिए भारतीय सेना की पहल है।

इन सुविधाओं के परिचालन ने कई चुनोतियो का सामना करने के लिए सेना की राष्ट्र के प्रति प्रतिबद्धता का प्रदर्शन किया है। आइसोलोशन वार्ड में करीब एक हजार लोगो की व्यवस्था है।

ग़ुलाब सिंह - जैसलमेर (Gulab Singh - Jaisalmer)














सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News

Rajputana News e-paper daily digital edition, published and circulated from Jaipur Rajasthan

Follow us: Facebook
Follow us: Twitter
Youtube

Post Business Listing - for all around India