Breaking News

Corona Virus Updates: राहत की खबर, ईरान से लाए 484 भारतीय निगेटिव

Corona Virus Updates: राहत की खबर, ईरान से लाए 484 भारतीयों और जैसलमेर के 10 संदिग्ध मरीजों की रिपोर्ट आई निगेटिव।

जैसलमेर की जनता ने कई मुसीबतों का सामना किया है और हर जंग में जीत हासिल की है। अब कोरोना की बारी है।

फिलहाल जैसलमेर बेहतर स्टेज पर है और सुखद यह है कि अब तक एक भी मरीज सामने नहीं आया है, हालांकि यहां के कई लोग जो विदेशों में रहते थे वे वापस आ चुके हैं और उनकी जांच भी हो चुकी है।

Corona Virus Updates: राहत की खबर, ईरान से लाए 484 भारतीय निगेटिव


जैसलमेर में कोरोना संदिग्ध के तौर पर अब तक 10 लोगों को अस्पताल में भर्ती किया गया था, जिनके सेम्पल जांच में भेजे गए और सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है।

484 भारतीय आइसोलेशन पर थे 


इतना ही नहीं पिछले कुछ दिनों से जैसलमेर के मिलट्री स्टेशन में ईरान से आए 484 भारतीय आइसोलेशन पर है।  इनकी दो बार जांच की जा चुकी है और सभी स्वस्थ है।

ऐसे में अब इनमें कोरोना के मरीज का सामने आने के चांस बहुत कम है. कुल मिलाकर ये दोनों मामले जैसलमेर के लिए सुखद है, क्योंकि संक्रमण की संभावना इन दोनों मामलों से थी।

दुनिया भर में कोरोना वायरस से सबसे अधिक प्रभावित देशों में से एक ईरान से तीन विभिन्न चरणों में कुल 484 भारतीय नागरिकों को एयर इंडिया के विशेष विमानों द्वारा जैसलमेर एअरलिफ्ट किया गया था।

इन सभी भारतीय नागरिकों को जैसलमेर मिलिट्री स्टेशन स्थित आइसोलेशन कम वेलनेस सेंटर में रखा गया है। 


भारतीय नागरिकों की कोरोना जांच

जानकारी के मुताबिक इन सभी 484 भारतीय नागरिकों की कोरोना जांच की गई थी और इसकी  रिपोर्ट भी आ गई है।

राहत की बात यह है कि यह सभी 484 भारतीय नागरिक कोरोना नेगेटिव पाए गए हैं।  सभी भारतीय नागरिकों की कोरोना रिपोर्ट फिलहाल नेगेटिव पाई गई है, लेकिन एहतियात के तौर पर इन्हें 14 दिन तक आर्मी स्टेशन के आइसोलेशन कम वैलनेस सेंटर में ही रहना पड़ेगा।

जैसलमेर एअरलिफ्ट किए गए सभी 484 भारतीय नागरिक अभी जैसलमेर मिलिट्री स्टेशन स्थित वैलनेस सेंटर में है और आर्मी द्वारा की गई सुविधाओं से खासे संतुष्ट दिखाई दे रहे हैं.


जैसलमेर एयरपोर्ट पर विशेष जांच 


आप को बता दें की बीते दिनों ईरान से जैसलमेर पहुंचे एअर इंडिया विशेष विमानों से उतरे 484 भारतीय नागरिकों की जैसलमेर एयरपोर्ट पर विशेष जांच कराई गई थी।

जांच प्रक्रिया पूरी होने के बाद सभी को वेलनेस सेंटर ले जाया गया था. जांच प्रक्रिया में सेना और नागरिक प्रशासन की टीमों का सहयोग रहा।

भारतीय सेना ने एक माह की अल्प अवधि में जैसलमेर में एक हजार से अधिक बिस्तर सहित अत्यधुनिक सुविधाओं का वेलनेस सेंटर विकसित कर रखा है.

सतर्क रहने की जरूरत 


हालांकि खतरा अभी टला नहीं है. ऐसे में संयम बरतने की जरूरत है. 31 मार्च तक लॉकडाउन के दाैरान घर पर ही रहें. जरूरी हो तभी बाहर निकलें।

मास्क लगाएं और बार बार हाथ धोएं। सरकार के इस प्रयास और कोरोना से लड़ने के लिए सहयोग करें और अपने घर पर ही रहें ताकि आपका परिवार और आप स्वस्थ रह सके।

जैसलमेर के लिए सुखद यह भी है कि अब तक संक्रमण नहीं फैला है और अब सीमाएं सील होने के बाद बाहर से आवाजाही बंद हो गई है. ऐसे में किसी कोरोना पीड़ित के आने की संभावना कम हो गई है।

फिर भी हमें सतर्क रहने की जरूरत है, लापरवाही बिल्कुल ना बरतें।

सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे

कोरोना वायरस के प्रभाव : ईरान से अब तक जैसलमेर में 484 भारतीयों को लाया गया

See More Related News

Rajputana News e-paper daily digital edition, published and circulated from Jaipur Rajasthan

Follow us: Facebook
Follow us: Twitter
Youtube

Post Business Listing - for all around India

Corona Virus Updates: राहत की खबर, ईरान से लाए 484 भारतीय निगेटिव
ग़ुलाब सिंह - जैसलमेर (Gulab Singh - Jaisalmer) के द्वारा लिखित


ग़ुलाब सिंह - जैसलमेर (Gulab Singh - Jaisalmer)