Breaking News

भारत-अमेरिका संबंध नए मुकाम पर



नई दिल्ली

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प और प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी एक संयुक्त प्रेस बयान जारी किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि पिछले 8 महीनों में मेरे और राष्ट्रपति ट्रम्प के बीच यह पाँचवीं मुलाकात है। कल मोटेरा में राष्ट्रपति ट्रम्प का अभूतपूर्व और ऐतिहासिक स्वागत हमेशा रखा जाएगा। राष्ट्रपति ट्रम्प और उनके डेलीगेशन का भारत में एक बार फिर हार्दिक स्वागत है। मुझे विशेष ख़ुशी है की इस यात्रा पर वो अपने परिवार के साथ आए हैं। पीएम मोदी ने कहा कि तेल और गैस के लिए अमेरिका भारत का एक महत्वपूर्ण स्रोत बन गया है। पिछले 4 वर्षों में हमारा कुल एनर्जी व्यापार करीब 20 बिलियन डॉलर रहा है। जिसके बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने  कहा भारत में मेरा न भूलने वाला स्वागत हुआ। मैं महात्मा गांधी के आश्रम गया और राजघाट जाकर श्रद्धांजलि दी। ट्रंप ने कहा कि दोनों देश आतंकवाद के खिलाफ मिलकर लड़ाई के लिए सहमत हैं। 3 अरब डालर के रक्षा सौदे पर सहमति बनी है।  बता दें कि हैदराबाद हाउस में मोदी-ट्रंप की द्विपक्षीय वार्ता के बाद साझा बयान जारी होने से पहले केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल, धर्मेंद्र प्रधान समेत अन्य नेता मौजूद रहे, वहीं अमेरिका की ओर से डोनाल्ड ट्रंप कैबिनेट के सदस्य मौजूद रहे।
भारत और अमेरिका के बीच विशेष संबंध
भारत-अमेरिका के बीत साझा बयान के दौरान पीएम मोदी बोले कि भारत और अमेरिका के बीच विशेष संबंध का सबसे महत्वपूर्ण आधार लोगों से संपर्क करने वाले लोग हैं। पेशेवर, छात्रों, संयुक्त राज्य अमेरिका में भारतीय प्रवासी का इसमें बड़ा योगदान है। पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि हमारे वाणिज्य मंत्रियों ने व्यापार पर सकारात्मक बातचीत की है। हम दोनों ने फैसला किया है कि हमारी टीमों को इन व्यापार वार्ता को कानूनी रूप देना चाहिए।  इस दौरान पीएम मोदी बोले कि हमने (भारत और अमेरिका) आतंकवाद का समर्थन करने वालों को जिम्मेदार बनाने के प्रयासों को आगे बढ़ाने का संकल्प लिया।
आतंकवाद से लडऩे के अपने प्रयासों को और बढ़ाने के निर्णय लिया है: मोदी
भारत दौरे के दूसरे दिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने हैदराबाद हाउस में चर्चा के बाद साझा बयान में पीएम मोदी ने कहा कि अमेरिका और भारत का संबंध नए मुकाम पर पहुंचे हैं। संबंधों के बंहतर करने में ट्रंप ने बड़ा योगदान दिया है। आज हमने अमेरिका-भारत साझेदारी के हर महत्वपूर्ण पहलू पर चर्चा की। भारत और अमेरिका के बीच रक्षा संबंधों में मजबूती हमारी साझेदारी का एक महत्वपूर्ण पहलू है। हमने (भारत और अमेरिका) आतंकवाद का समर्थन करने वालों को जिम्मेदार ठहराने के लिए कदम बढ़ाने का संकल्प लिया।