गोविंददेवजी मंदिर में झूला महोत्सव शुरू

गोविंददेवजी मंदिर में झूला महोत्सव शुरू - सावन के साथ ही शहर के मंदिरों में झूला महोत्सव शुरू हो गए हैं. शहर के आराध्य गोविन्द देव जी मंदिर में मंगलवार को झूला महोत्सव शुरू हुआ.

गोविंददेवजी मंदिर में झूला महोत्सव शुरू

ठाकुरजी के गर्भ गृह में झूला झाँकी सजाई गई. सभी सातों झाँकियों में ठाकुरजी ने भक्तों को झूले पर विराजमान भाव से दर्शन दिए.

रियासतकालीन कलात्मक झूले पर विराजमान गोविंददेवजी और राधाजी को दर्शनार्थियों ने अपलक निहारा. गोविंददेवजी मंदिर के प्रवक्ता मानस गोस्वामी ने बताया कि मंदिर में झूला झाँकी रक्षाबंधन तक सजी रहेगी.

सिंजारा पर्व से ठाकुरजी को काली गोटेयुक्त लहरिया पोशाक धारण कराई जाएगी. तीज पर ठाकुरजी को घेवर का भोग लगाया जाएगा.

शयन झाँकी में ही ठाकुरजी धोती में नजर आएँगे. शेष अन्य झांकियों में प्रतिदिन अलग-अलग रंग के लहरिया-जामा पोशाक धारण कराई जाएगी.

सरस निकुंज में झूला महोत्सव 3 को

दरीबा स्थित आचार्य पीठ सरस निकुंज में श्रावण शुक्ल तृतीय पर 3 अगस्त को झूला महोत्सव आयोजित किया जाएगा.

शुक्र सम्प्रदायाचार्य पीठाधीश्वर अलबेली माधुरीशरण महाराज के सानिध्य में ठाकुरजी को फूलों के झूलों में विराजमान किया जाएगा.

सरस परिकर के प्रवक्ता प्रवीण बड़े भैया ने बताया कि सरस परिकर को फूलों से सजाया जाएगा.

गोविंददेवजी मंदिर में झूला महोत्सव शुरू Jhoola festival begins in Govind dev ji temple

Follow us: Facebook
Follow us: Twitter
Youtube

Post Business Listing - for all around India
Read Rajputana News Epaper