लॉकडाउन के बाद बदलेगी लिविंग लाइफस्टाइल, बढ़ेगी बचत की आदत

लॉकडाउन के बाद बदलेगी लिविंग लाइफस्टाइल, बढ़ेगी बचत की आदत

सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन करने के लिए ऑनलाइन मेल-मिलाप जरूरी

ना सरोकार टूटा, ना संबंधों में आई रुकावट
सरकार ही नहीं, बल्कि आईटी और इंडस्ट्री सेक्टर ऑनलाइन

जयपुर। राज्य सरकारें ही नहीं, एसोसिएशंस, आईटी व बैंकिंग जैसे कई सेक्टर ऑनलाइन वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से सोशल डिस्टेंसिंग मेंटेन कर रहे हैं।

लॉकडाउन के बाद बदलेगी लिविंग लाइफस्टाइल, बढ़ेगी बचत की आदत


एम्पलाइज को ट्रेनिंग देनी हो या फिर इंडस्ट्री की ग्रोथ के लिए डिस्कशन। सब कुछ लाइव वीसी के जरिए घर बैठे हो रहा है।

कोरोना से बचाव के लिए तीये की बैठक भी ऑनलाइन की जा रही है। 


ऐसे में यह स्पष्ट कहा जा सकता है कि भविष्य में ऐसे माध्यम को अडॉप्ट कर हम स्वयं और देश को सुरक्षित रख सकते है।

वैसे भी बढते संक्रमण के दौर में बाहरी व्यक्ति से हाथ मिलाना तक बंद सा हो गया है। 


जब हमारे संवाददाता ने शहर के आईटी और इंडस्ट्री एक्सपर्ट से बात की तो उन्होंने इसे ही सुरक्षित भविष्य बताया।

सरकारें बढ़ा रही ऑनलाइन फैसिलिटी


केंद्र और राज्य सरकार ने आमजन की सुविधा में कई मोबाइल एप्लीकेशन शुरू कर दी है।

हाल ही राजस्थान के मुख्य सचिव ने कहा था कि आने वाले समय में वर्क एट होम पर काम किया जाएगा।

वहीं, सरकार के निर्देश पर दुकानदार राशन भी होम डिलीवरी कर रहे है।

हमें भी इसे अपनाना चाहिए।  हाल ही राजकॉप सिटीजन के अलावा ई-बाजार कोविड-19 एप भी सरकार ने राहत देने के लिए शुरू की। 

इससे लोगों में खर्च कम करने के साथ ही बचत की आदत और बढ़ेगी।

चेंज हुई लिविंग स्टाइल, खर्च हुआ कम


लॉकडाउन से जरूर आर्थिक मजबूती टूटी है, लेकिन हमारी लिविंग स्टाइल में बदलाव आ रहा है। लोगों में अनावश्यक खर्चों में कटोती की मानसिकता बढ़ी है।

वहीं, कंपनियों में ऑडियो-वीडियो से ट्रेनिंग होने से भी अनावश्यक खर्चों पर रोक लगी है। 


घर रहकर ही काम करने की आदत भी बन रही है।


लॉकडाउन के बाद बदलेगी लिविंग लाइफस्टाइल, बढ़ेगी बचत की आदत

सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News

Follow us: Facebook

Post Business Listing - for all around India