Breaking News

बदलते मौसम में बीमारियों से बचाएंगे मौसमी फल



मौसम बदलने पर लोगों के बीमार होने की आशंका बढ़ जाती है क्योंकि ऐसे दिनों में अचानक से तापमान घटता-बढ़ता है। लेकिन इस स्थिति में खुद को स्वस्थ रखने का हल भी प्रकृति में ही छिपा है।

विशेषज्ञ मानते हैं कि मौसमी फल संतरा, पपीता, अमरूद आदि खाने से बदलते मौसम में सताने वाली एलर्जी, सर्दी-बुखार जैसे बीमारियों से बचा जा सकता है।

फाइबर से पाचन रहता है अच्छा 
दिन में कई बार अचानक ताप बदलने पर शरीर का तंत्र उस स्थिति के मुताबिक खुद को तुरंत ढाल नहीं पाता, जिससे बीमार पडऩे की आशंका बढ़ जाती है।

इससे बचने के लिए कई परतों में कपड़े पहने ताकि जब मौसम गरम लगे, उन्हें उतारा जा सके और ठंड लगने पर बचे रहे। पूरी आस्तीन के कपड़े ही पहने ताकि बदलते मौसम में पैदा होने वाले मच्छर व कीटों से बचा जा सके।

फरवरी में स्ट्रॉबेरी खाने से विटामिन सी, मैग्नीशियम, फोलेट और पोटेशियम की प्रचुर मात्रा मिलती है। संतरे में भी मौजूद विटामिन सी से बदलते मौसम में त्वचा अच्छी रहती है।

फलों में फाइबर से पाचन अच्छा रहता है और यह वजन घटाने में सहायक है। इन फलों के एंटीऑक्सीडेंट से हृदय और कैंसर से जुड़ी बीमारियां नहीं होतीं।
भोजन से जुड़ी ध्यान रखें ये बातें
सुबह का नाश्ता जरूर करें जिसमें मौसमी फल व सब्जियां शामिल करें।

एक बार में ज्यादा भोजन के बजाय छह हिस्सों में भोजन बांटकर खाएं।

उबला हुआ पानी पिएं, मीठे व ठंडे पेय से बचे और डीहाइड्रेट न होने दें।

संतुलित भोजन से मेटाबॉलिज्म व प्रतिरोधी क्षमता मजबूत होगी।

व्यायाम न भूलें
अचानक ताप बदलने के मनोवैज्ञानिक असर से बचने को व्यायाम करें।

मौसम बदलने पर होने वाले हड्डी व जोड़ों के दर्द से बचे रहेंगे।

हर दिन व्यायाम शरीर की इम्यूनिटी बढ़ाएगा, जिससे मौसम का असर नहीं होगा।
गर्म कपड़े पहनना न छोड़ें।

ई-न्यूज पेपर के लिए यहाँ क्लिक करें, 2 मार्च 2020

सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News

Rajputana News e-paper daily digital edition, published and circulated from Jaipur Rajasthan

Follow us: Facebook
Follow us: Twitter
Youtube

Post Business Listing - for all around India