Breaking News

300 साल में पहली बार खाटूश्याम मंदिर के पट बंद

300 साल में पहली बार खाटूश्याम मंदिर के पट बंद - 31 मार्च तक दर्शनों पर रोक

कोरोना के कारण जीण माता मेले पर लगी रोक के बाद अब खाटूश्याम जी मंदिर के पट बंद हो गए हैं। यह 300 में पहला मौका है, जब इस तरह से मंदिर के पट बंद हुए हैं।

300 साल में पहली बार खाटूश्याम मंदिर के पट बंद


इस सम्बन्ध में मंदिर कमेटी व जिला प्रशासन ने आदेश जारी कर दिए हैं। पुजारी परिवार नियमित आरती जारी रखेगा। मंदिर कमेटी ने आगामी कार्यक्रमों को भी स्थगित कर दिया है।

जीण माता व खाटू बाबा के होंगे ऑनलइन दर्शन

300 साल में पहली बार खाटूश्याम मंदिर के पट बंद - 31 मार्च तक दर्शनों पर रोक

खाटू में रोजाना आ रहे थे दस हजार भक्त 


खाटूश्यामजी का मेला सम्पन्न होने बाद भी 10 हजार से अधिक भक्त रोजाना श्याम बाबा के मंदिर में दर्शनों के लिए आ रहे थे। प्रदेश भर में धारा 144 लगने के बाद भी गुरुवार सुबह भक्त मंदिर पहुंचे तो पट बंद का निर्णय लिया गया।

ये भी अब बंद रहेंगे :


लोहागढ़ स्थित सूर्य मंदिर के पट बंद हो गए है। यहीं कुंड में स्नान पर भी रोक लगा दी है।

सालसर बालाजी के दर्शन भी अब 31 मार्च तक बंद रहेंगे।


प्रसिद्ध बुटाटी धाम स्थित संत चतुरदास महाराज मंदिर को गुरुवार से 31 मार्च तक के लिए बंद कर दिया गया।

खींवपुर छेत्र में 30 मार्च को ग्राम पांचला सिद्धा का जसनाथ महाराज मेला स्थगित कर दिया गया है।


शक्ति पीठ गोठ मांगलोद दधिमती माता मंदिर में चैत्र नवरात्रा मेला स्थगित हो गया है

दिग्गी मंदिर एवं जैन श्रेतांबर दादाबाड़ी मालपुरा में भक्तों अभाव में सन्नाटा रहा।


दिग्गी कल्याण मंदिर दर्शनार्थियों के लिए मणिदीर्ण निर्माण के बाद पहली बार पट 31 मार्च तक बंद किए गए।

मेवाड़ के कृष्ण धाम सांवलियाजी मंदिर को आगामी आदेश तक बंद करने का फैसला किया गया।


सम्बन्धित खबरें पढने के लिए यहाँ देखे
See More Related News

Rajputana News e-paper daily digital edition, published and circulated from Jaipur Rajasthan

Follow us: Facebook
Follow us: Twitter
Youtube

Post Business Listing - for all around India