Breaking News

सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के लिए नेक एक्रीडिटेशन अनिवार्य

सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के लिए नेक एक्रीडिटेशन अनिवार्य - देश के सभी विश्वविद्यालयों और कॉलेजों को आगामी तीन वर्षों में राष्ट्रीय मूल्यांकन व प्रत्यायन परिषद (नेक) (National Assessment and Accreditation Council - NAAC) से एक्रीडिटेशन लेना होगा.

सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के लिए नेक एक्रीडिटेशन अनिवार्य

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने 2022 तक सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों को नेक एक्रीडिटेशन का दर्जा देने का लक्ष्य रखा है.

इस लक्ष्य के तहत यूजीसी ने सभी विश्वविद्यालयों को पत्र लिखा है कि वे नेक एक्रीडिटेशन लेने के लिए रिसर्च, स्टूडेंट्स की संख्या, शिक्षकों के पदों को भरने, गुणवत्ता अदि पर फोकस करें.

खास बात यह है कि बड़े विश्वविद्यालय मेंटर की भूमिका निभाएंगे, जो छोटे विश्वविद्यालयों एवं कॉलेजों को नेक एक्रीडिटेशन लेने में मदद करेंगे.

यूजीसी ने इस सम्बन्ध में विश्वविद्यालयों एवं उच्च शिक्षण संस्थानों को दिशा निर्देश जारी किये हैं. इसमें नेक एक्रीडिटेशन के नियमों एवं शर्तों को भी शामिल किया गया है.

इसके तहत सभी संस्थानों को 2022 तक कम से कम 2.5 प्राप्तांकों के साथ नेक एक्रीडिटेशन लेना अनिवार्य है. बड़े विश्वविद्यालयों को मेंटर बनना होगा.

मेंटर बनने के लिए नेक एक्रीडिटेशन में 3.26 या उससे अधिक अंक होना जरूरी है. मेंटर बनने के लिए दोनों संस्थानों के बीच समझौता होगा. इसके बदले आयोग उन्हें 30 लाख रूपए तक मदद भी करेगा.

350 विश्वविद्यालयों में नहीं है नेक एक्रीडिटेशन

एक जानकारी के मुताबिक, देशभर में फिलहाल 350 विश्वविद्यालयों और 30 हजार कॉलेजों में नेक एक्रीडिटेशन नहीं है. यानि अभी तक इन्होंने नेक एक्रीडिटेशन के लिए आवेदन भी नहीं किया है, जबकि अंतर्राष्ट्रीय मानकों के तहत सभी संस्थानों को रैंकिंग में शामिल होने के लिए नेक एक्रीडिटेशन अनिवार्य है.

सभी यूनिवर्सिटी और कॉलेजों के लिए नेक एक्रीडिटेशन अनिवार्य NAAC accreditation compulsory for all university and colleges