हिंदी प्रेम प्रदर्शन के लिए प्रतिवर्ष हिंदी दिवस आता है

इस दिन न जाने क्यों हमारा हिंदी प्रेम उमड़ आता है
हर कोई अपने आप को हिंदी भाषा प्रेमी बतलाता है
अंग्रेजी को छोड़ हिंदी भाषा की श्रेष्ठता के गुण गाता है
सोशल मीडिया पर अपना हिंदी प्रेम दिखाता है
अगले दिन उसका हिंदी ज्ञान ना जाने कहाँ खो जाता है
हिंदी प्रेम प्रदर्शन के लिए प्रतिवर्ष हिंदी दिवस आता है।

hindi day india celebration

फिर दस जनवरी को पुनः हिंदी भाषा को उसका गौरव दिलवाता है
बड़े जोर शोर से वह वर्ल्ड हिंदी डे यानि विश्व हिंदी दिवस मनाता है
सम्पूर्ण विश्व में एक दिन हिंदी भाषा का डंका जोर शोर से बजाता है
सभी को हिंदी भाषा का महत्त्व तथा उसकी समृद्धता के बारे में बताता है
आखिर वह हिंदी प्रेमी हैं इसलिए सोशल मीडिया पर पुनः अपने हथियार उठाता है
हिंदी प्रेम प्रदर्शन के लिए प्रतिवर्ष हिंदी दिवस आता है।

इन दो दिवसों के अतिरिक्त हम सभी ने हिंदी से मुँह मोड़ लिया
गुलामी की भाषा के यशोगान में मात्रभाषा से नाता तोड़ लिया
भावनाओं का प्रस्तुतीकरण जो हिंदी में है उसे अनुभव करना छोड़ दिया
संस्कृत की बेटी को यथोचित मान न देकर भावनाविहीन भाषा से नाता जोड़ लिया
दिखावटी हिंदी प्रेम के प्रदर्शन के लिए हमें यह एक दिन बहुत भाता है
हिंदी प्रेम प्रदर्शन के लिए प्रतिवर्ष हिंदी दिवस आता है।

शायद ही विश्व में अन्य कोई मात्रभाषा हो जिसके लिए कोई दिवस मनाते हों
शायद ही विश्व में अन्य कोई मात्रभाषा हो जिसकी बदहाली पर आंसू बहाते हों
शायद ही विश्व में अन्य कोई मात्रभाषा हो जो उसके जन्मदाता देश में उपेक्षित हों
शायद ही विश्व में अन्य कोई मात्रभाषा हो जिसे बोलने वाले अशिक्षित समझे जाते हों
शायद इन्ही वजहों से हिंदी दिवस तथा विश्व हिंदी दिवस का महत्त्व बढ़ जाता है
हिंदी प्रेम प्रदर्शन के लिए प्रतिवर्ष हिंदी दिवस आता है।

हिंदी प्रेम प्रदर्शन के लिए प्रतिवर्ष हिंदी दिवस आता है
Hindi day comes every year to show love to Hindi